October 16, 2021

Himachal News 24

Read The World Today

विश्व बैंक, आर्थिक कार्य विभाग ने शिमला जलापूर्ति परियोजना के लिए 1,168 करोड़ रुपये की मंजूरी दी

शिमला: विश्व बैंक ने शिमला जलापूर्ति एवं सीवरेज सेवा परियोजना के लिए 1,168 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता स्वीकृत की है।

वार्ता सोमवार को संपन्न हुई और अब यह परियोजना शहर में अगले कुछ वर्षों में चौबीसों घंटे पानी की आपूर्ति और प्रभावी सीवरेज सेवाएं प्रदान करेगी।

यह परियोजना 2026 तक पूरी हो जाएगी।

राज्य मंत्रिमंडल ने 24 अगस्त 2021 को वार्ता पैकेज को मंजूरी दी थी।

शिमला जल आपूर्ति और सीवरेज परियोजना के मुख्य घटकों में वर्ष 2050 तक पानी की मांग को पूरा करने के लिए अतिरिक्त 67 एमएलडी के साथ सतलुज नदी से शिमला जल आपूर्ति का विस्तार, पानी की मांग को पूरा करने के लिए शिमला पेरी-शहरी क्षेत्रों में थोक जल आपूर्ति शामिल है। विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण/(साडा) – कुफरी, शोघी, घानाहट्टी और अतिरिक्त नियोजन क्षेत्रों में 2050 तक, शिमला नगर निगम क्षेत्र के भीतर सभी घरेलू और वाणिज्यिक उपभोक्ताओं को चौबीसों घंटे पानी की आपूर्ति और शिमला नगर निगम क्षेत्र के भीतर सीवरेज सेवाओं में सुधार।

इस परियोजना में शकरोड़ी गांव के पास सतलुज से पानी उठाने की परिकल्पना की गई है, जिसमें संजौली में 1.6 किमी की ऊंचाई तक उठाना और 67 एमएलडी पानी को बढ़ाने के लिए 22 किमी की पाइप बिछाना शामिल है।

यह परियोजना एमसी शिमला में वितरण पाइप नेटवर्क को 24×7 जल आपूर्ति प्रणाली में अपग्रेड करने के लिए बदलना चाहती है। इसके अतिरिक्त, मेहली-पंथघाटी, टूटू और मशोबरा के क्षेत्रों में सीवरेज नेटवर्क प्रदान किया जाएगा। यह परियोजना 2026 तक पूरी हो जाएगी।

15 अगस्त 2021